नौकरी चाहने वाले के लिए रहेगा साल 2018 बेहतर -ऐसा क्यों जाने यहाँ

अर्थव्यवस्था से प्राप्त संकेतों और एक्सपर्ट्स के अनुसार वर्ष 2018 में नौकरी की खोज कर रहे लोगो को कई अवसर प्राप्त होने की संभावना है ,इस वर्ष कॉलेजों में चल रहे कैंपस प्लेसमेंट्स कुछ सुधार की ओर इशारा कर रहे हैं । पिछले वर्ष की अपेक्षा आने वाले वर्ष में  कैंपस प्लेसमेंट्स में 25-30 फीसदी की वृद्धि हुई है | विश्व के कई देश यूरोप, जापान, दक्षिण कोरिया आदि की कंपनियां डोमेस्टिक  और इंटरनैशनल जॉब ऑफर्स दे रही हैं ,तथा अमेरिका और ब्रिटेन की कुछ कम्पनियों ने भारत में पहली बार रिक्रूटमेंट किया है ।

आईआईटी बॉम्बे में इंटरनैशनल जॉब ऑफर्स की संख्या पिछले वर्ष की अपेक्षा 50 से  बढ़कर 60 फीसदी हुई  है । वर्ष 2017 की तुलना में वर्ष 2018 में जॉब के बहुत से अवसर उपलब्ध होंगे ऐसा इकनोमिक ग्रोथ रिपोर्ट बतलाती है | इकनॉमिक टाइम्स और कुछ अन्य पार्टनर्स के साथ मिलकर किए गए एक सर्वे के अनुसा, सैलरी हाइक के मामले में भारत दुनिया में पहले नंबर पर है । जबकि एक्सपर्ट्स के अनुसार जीएसटी और नोटबंदी से शुरुआती दिनों में काफी कठिनाईयों का सामना करना पड़ा था , जिसके कारण इस वर्ष बेरोजगारी की संख्या में काफी वृद्धि हुई है |

वर्ष 2018 में आईटी सेक्टर में नौकरी के अधिक अवसर मिलने की संभावना है ,क्योंकि आईटी सेक्टर में इस वर्ष कर्मचारियों की भारी संख्या में कम किया गया है, और भारी संख्या में अपने सीनियर लेवल के अधिकारियों को वीआरएस दिया गया है । एक्सपर्ट्स के अनुसार बैकिंग और फाइनैशल सर्विसेज प्रोवाइड करने वाले संस्थानों में नौकरियों की संख्या में कटौती की संभावना है | जियो के आने के पश्चात टेलिकॉम सेक्टर में 75,000 जॉब्स में कटौती हुई  है, और 40,000 नौकरियों में और कटौती की आशंका जताई जा रही है।

फीडबैक इन्फ्रा की को-फाउंडर रुमझुम चटर्जी के अनुसार , 'हमनें वर्ष 2018 में अपनी टीम बड़ी करने का निर्णय लिया है । ' अब तक  सभी एक्सपर्ट्स के अनुमान यदि  सही साबित होते हैं ,देश में बेरोजगार की संख्या में परिवर्तन होगा और रोजगार के मामले में विफल साबित हुई सरकार के लिए यह एक राहत प्रदान करने वाली स्थिति होगी